Skip to main content

Monitoring facilities in Delhi schools

(Scroll down for English Translation)

दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकारी स्कूलों पर नजर रखने का एक नया तरीका खोजा है। इसके तहत दिल्ली भर में वॉलेंटियर्स की एक टीम तैयार की जा रही है। ये वालेंटियर्स रोजाना सरकारी स्कूलों में जाकर टॉयलेट, पानी, साफ-सफाई और शिक्षकों की रोजाना उपस्थिति पर नजर रखेंगे। साथ ही शिक्षा मंत्री को प्रतिदिन इसकी रिपोर्ट भी देंगे। 

मनीष सिसोदिया ने कहा, मैं चाहता हूं कि शीतकालीन अवकाश के बाद जब बच्चे स्कूल पहुंचें, तो उन्हें ये सुविधाएं मिल रही हों। उन्होंने कहा, इसके लिए ऐसे लोगों को वॉलेंटियर बनाया जा रहा है जो अलग-अलग क्षेत्रों में स्थित सरकारी स्कूलों का निरीक्षण कर वहां की स्थिति की रोजाना रिपोर्ट दे सकें। ऐसे वॉलेंटियर्स को रोजाना समय देना जरूरी है। 

मनीष सिसोदिया ने अभिभावकों, शिक्षकों के साथ-साथ ऐसे लोगों से भी वॉलेंटियर के रूप में सेवा देने की अपील की है जो दिल्ली के सरकारी स्कूलों की स्थिति सुधारने में दिलचस्पी रखते हैं और रोजाना समय दे सकते हैं।

 

Delhi's Education Minister, Mr. Manish Sisodia has found a new way to keep an eye on government schools. Under this initiative, a team of volunteers are being recruited across Delhi who will visit government schools daily and monitor toilets, water supply, cleanliness and presence of teachers. The team will report its findings to the Education Minister daily. 

Mr. Sisodia said, "When children return to schools after winter break, I want them to have these facilities'. He said that for this initiative, the volunteers must be able to monitor government schools in different areas and report daily. Daily reports are essential.

Mr. Manish Sisodia has appealed to parents, teachers and all those who are interested in improving the condition of government schools in Delhi and can spare time on a daily basis, to come forward to be part of this volunteer team.