Skip to main content of main site

कई प्रोजेक्ट्स बढ़ी हुई तारीखों पर भी नहीं हुए खत्म, कुछ प्रोजेक्ट्स तकरीबन 20 साल से लटके पड़े

PR/AAP/DelhiMCD/30Dec16

बीजेपी शासित MCD हर मोर्चे पर हो रही है फ़ेल

कई प्रोजेक्ट्स बढ़ी हुई तारीखों पर भी नहीं हुए खत्म, कुछ प्रोजेक्ट्स तकरीबन 20 साल से लटके पड़े

भ्रष्टाचार करने का रास्ता बनाने के लिए बढ़ाई जाती हैं तारीखें

भारतीय जनता पार्टी शासित दिल्ली नगर निगम में कई प्रोजेक्ट ऐसे हैं जिनकी कई बार तारीखें आगे बढ़ाई जा चुकी हैं लेकिन वो अभी भी पूरे नहीं हो पाए हैं। कई प्रोजेक्ट ऐसे भी हैं जो पिछले तकरीबन 20 साल से लटके पड़े हैं। भारतीय जनता पार्टी शासित एमसीडी हर मोर्चे पर फ़ेल हुई है चाहे वो उसका मौलिक कर्तव्य साफ़-सफ़ाई शिक्षा, स्वास्थ्य और वृधावस्था पेंशन जैसे ही काम क्यों ना हो, भारतीय जनता पार्टी ने नगर निगम को बर्बाद करके रख दिया है। नालियां भरी पड़ी हुई हैं और सीवर टूटे पड़े हैं लेकिन एमसीडी में बैठे भारतीय जनता पार्टी के नेता आंखें मूंदे बैठे हैं।

पार्टी कार्यालय में हुई प्रेस कॉंफ्रेस में पार्टी विधायक नितिन त्यागी ने कहा कि ‘दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी शासित नगर निगम ना केवल साफ़-सफ़ाई, शिक्षा, स्वास्थ्य और वृधावस्था पेंशन जैसे अपने मौलिक कर्तव्य को निभाने में असफल रही है बल्कि कई ऐसे प्रोजेक्ट एमसीडी के पास हैं जिनकी तारीखें लगातार बढ़ाई गईं और वो योजनाएं अपनी बढ़ी तारीखों पर भी पूरी नहीं हो रही हैं। कई ऐसी योजनाएं भी हैं जो पिछले तकरीबन 20 साल से लटकी पड़ी हैं। ज़ाहिर है कि इन योजनाओं को लटकाने का उद्येश्य भ्रष्टाचार करना ही है। किंग्स-वे-कैंप में 600 बिस्तर का अस्पताल बनाने की घोषणा बीजेपी ने की थी जिसमें 200 बिस्तर का मेडिकल कॉलेज 2 साल के अंदर बना दिया जाएगा लेकिन अफ़सोस कि यह प्रोजेक्ट भी नहीं बन पाया है। ईस्ट दिल्ली के सिविक सेंटर के लिए आवंटित ज़मीन पर अब शादियों के टैंट लगाए जाते हैं और इसकी आड़ में मोटा पैसा कमाया जा रहा है लेकिन एमसीडी दफ्तर की इमारत अभी तक नहीं बन पाई है।‘

‘ऐसी कई पार्किंग हैं जिनका कार्य पूरा होने के बाद भी राजनैतिक फ़ायदा उठाने के लिए अभी तक उद्घाटन नहीं किया गया है और जिसके कारण दिल्ली की जनता अभी तक इन सभी सुविधाओं से वंचित है।

प्रेस कॉंफ्रेस में बोलते हुए पार्टी प्रवक्ता रिचा पांडे मिश्रा ने कहा कि ‘भारतीय जनता पार्टी शासित एमसीडी ना केवल अपने मौलिक कर्तव्य पूरे करने में असफल हो रही है बल्कि एमसीडी की लटकी पड़ी योजनाएं भी बार-बार तारीखें बढ़ने के बाद भी पूरी नहीं हो पाई हैं। कई योजनाएं तो ऐसी हैं जो पिछले तकरीबन 20 साल से लटकी हैं।

1.       रानी झांसी ग्रेड सेपरेटर जो साल 1998 में प्रस्तावित हुआ था और जिसका काम 2008 में शुरु हुआ लेकिन पूरा आजतक नहीं हो पाया है।

2.       किशनगंज रेल अंडरब्रिज का काम अधूरा लटका पड़ा है।

3.       नॉर्थ एमसीडी में वेस्ट-टू-एनर्जी प्लांट का काम लटका है।

4.       एम्यूज़मेंट पार्क और शाहदरा झील की योजना भी लटकी है।

5.       ब्रिजवासन रोड़ का काम अधूरा पड़ा है।

 भारतीय जनता पार्टी ने 2012 चुनाव में ऐसे कई वादे किए जो आज तक पूरा होने तो दूर की बात है उनकी अभी तक शुरुआत भी नहीं की है। एमसीडी को आर्थिक तौर पर पंगु बनाने वाली भारतीय जनता पार्टी हर मोर्चे पर असफल ही साबित हुई है क्योंकि दिल्ली नगर निगम को भारतीय जनता पार्टी ने काम करने की बजाए भ्रष्टाचार करने का ही मंच बनाए रखा। 

Related Story

Make a Donation